आमवात या अर्थराइटिस कई प्रकार के जोड़ों का दर्द होता है । आपको चलने फिरने में भी तकलीफ हो सकती है । कुछ तरह के अर्थराइटिस मे शरीर के विभिन्न अंग प्रभावित होते हैं, ऐसे में आपको दर्द के साथ कुछ और समस्‍याएं भी हो सकती हैं। आमवात से बचने के लिये शरीर का वजन सामान्य रखना चाहिए।
जैसे : बुखार, वज़न घटना, सांस लेने में तकलीफ, त्वचा पर लाल चकत्ते तथा खुजली होना। यह लक्षण किसी और बीमारी के भी प्रतीक हो सकते हैं।
उपचार-
१ . एकांगवीर रस आधी गोली + आमवातारि रस आधी गोली + विषतिंदुक बटी एक गोली ; इन सबकी एक खुराक करें व रास्नादि काढ़े के दो चम्मच के साथ दिन में तीन बार सेवन करें।
२ . हरड़ का ५ ग्राम चूर्ण एरण्ड के तेल के एक चम्मच में मिला कर सुबह शाम सेवन करें व ऊपर से गर्म जल पियें।
दवाएं खाली पेट न लें।


नोट – किसी भी आयुर्वेद औषधि का सेवन करने से पहले आयुर्वेद चिकित्सक से परामर्श अवश्य ले | जिससे आपको हानि होने की सम्भावना नही रहेगी |

यदि आपको हमारा लेख पसंद आया हो तो हमे कमेन्ट करके अवश्य बताये | साथ ही किसी भी प्रकार के परामर्श के लिए आप अपना सवाल कमेन्ट बॉक्स में छोड़े हमारे विशेषज्ञों द्वारा जल्द ही आपको जवाब दिया जायेगा 

धन्यवाद !

Calling & Whatsapp No- : +91 8744808450, 9911686262
Share This

Translate

Popular Posts

Recent Post

Hello!

Chat on WhatsApp