अपेंडिक्स अर्थात आंत्रपुच्छ शोथ (अपेण्डिसाइटिस) का इलाज-
आज हम आपको बताने जा रहे हैं अपेण्डिसाइटिस का ऐसा रामबाण इलाज जिससे अगर डॉक्टर ने आपको ऑपरेशन की सलाह भी दे दी हैं तो भी ऑपरेशन की ज़रूरत नहीं पड़ेगी।
यहाँ पर बताये गए तीनो प्रयोग अपेण्डिसाइटिस के लिए रामबाण हैं। भारतीय आयुर्वेद ज्ञान का हिस्सा हैं और पुराने वैदो द्वारा सफलता पूर्वक आजमाए हुए हैं। आइये जाने ये प्रयोग-
1. ऐसी जगह जहाँ देसी गाय चरती हो या रहती हो वहां की मिटटी (अगर ऐसी जगह ना हो तो ऐसे खेत की मिटटी जहाँ पर केमिकल्स युक्त खाद इस्तेमाल ना होते हो उस खेत की मिटटी) भिगोकर अपेण्डिसाइटिस से प्रभावित हिस्से पर रखे तथा थोड़ी थोड़ी देर में बदलते रहे एवं तीन दिन तक निराहार रहे। चौथे दिन आधी कटोरी मूंग का पानी, पांचवे दिन एक कटोरी, छठे दिन एक कटोरी मूंग व् सातवे दिन भूख के अनुसार मूंग खाए। आठवे दिन मूंग और चावल का आहार ले तथा नौवे दिन सब्जी रोटी खाना प्रारम्भ करे। इससे अपेंडिक्स मिट जायेगा व् जीवन में फिर कभी नहीं होगा।

2. हर रोज़ सुबह नित्य कर्म से निर्व्रत हो कर (शौच वगैरह जा कर) पांच मिनट तक प्रतिदिन पादपश्चिमोत्तानासन करने से कुछ ही दिनों में अपेंडिक्स मिटता हैं।
3. भोजन से पहले अदरक, निम्बू एवं सेंधा नमक खाने से अपेंडिक्स में लाभ होता हैं।
  • नोट – किसी भी आयुर्वेद औषधि का सेवन करने से पहले आयुर्वेद चिकित्सक से परामर्श अवश्य ले | जिससे आपको हानि होने की सम्भावना नही रहेगी |
  • यदि आपको हमारा लेख पसंद आया हो तो हमे कमेन्ट करके अवश्य बताये | साथ ही किसी भी प्रकार के परामर्श के लिए आप अपना सवाल कमेन्ट बॉक्स में छोड़े हमारे विशेषज्ञों द्वारा जल्द ही आपको जवाब दिया जायेगा 
  • धन्यवाद !
Share This

Translate

Popular Posts

Recent Post

Hello!

Chat on WhatsApp