अस्थमा के कारण, लक्षण, उपचार और घरेलू ...

नजला जुकाम , श्वास का उपचार
शुद्ध देशी गाय का घी/Panchgavya Nasal Drop
विधि :-इसकी दो-दो बुँदे गुनगुना करके रात्रि में सोने से पहले दोनों नासिकाओं में डाले और बहुत हल्का सा पीछे की और खींचे जैसे साँस लेते हो। जब पहले नाक में डाले तो दूसरी नाक को बन्द करके हल्का सा ऊपर खींचे जब दूसरी नाक में डाले तो पहली नाक को बन्द रखे और हल्का सा ऊपर खींचे बिना तकिया लिए 15 मिनिट तक लेटे रहे और फिर तकिया लगाकर सो जाये बिना किसी से बात किये
+
गोमुत्र अर्क 10 ML सुबह शाम/अगर गौमुत्र नही ले सकते तो गोतीर्थ का Breathon Tab 2-2 सुबह शाम लें।
+
श्वासकुठार रस 1 ग्राम + त्रिभुवनकीर्ति रस 2 ग्राम + लक्ष्मी विलास रस 2 ग्राम + टंकण भस्म 1 ग्राम + गोदन्ती भरम 5 ग्राम. सभी को मिलाकर 8 डोज बना लें.एक-एक डोज हर छह घंटे पर शहद व अदरक के रस से लें।(15 दिन बाद ये बन्द कर दें)

योगा और प्राणायाम  करें ।
जलनेती सप्ताह में 1 बार जरूर करें ।
हमेशा गुनगुना पानी पीना है।
गर्म पानी से कभी नही नहाना है ताजा या गुनगुने पानी से ही नहाये।

नोट – किसी भी आयुर्वेद औषधि का सेवन करने से पहले आयुर्वेद चिकित्सक से परामर्श अवश्य ले | जिससे आपको हानि होने की सम्भावना नही रहेगी |

यदि आपको हमारा लेख पसंद आया हो तो हमे कमेन्ट करके अवश्य बताये | साथ ही किसी भी प्रकार के परामर्श के लिए आप अपना सवाल कमेन्ट बॉक्स में छोड़े हमारे विशेषज्ञों द्वारा जल्द ही आपको जवाब दिया जायेगा |


धन्यवाद !

Share This

Translate

Popular Posts

Recent Post

Hello!

Chat on WhatsApp