मधुमेह ( शुगर ) की आयुर्वेदिक चिकित्सा-
मधुमेह दमन चूर्ण 100 ग्राम
नाग भस्म 10 ग्राम
शिलाजीत 10 ग्राम
उपरोक्त में शिलाजीत को पहले खरल में अच्छी तरह पीस लें फिर सभी ओषधियों को आपस मे भलीभांति मिलाकर 3 ग्राम सुबह 3 ग्राम शाम को ले ।
बसन्तकुसुमाकर रस एक गोली सुबह एक गोली शाम को लेनी चाहिए । 
चन्द्र प्रभा वटी 2 गोली सुबह 2 गोली शाम को लें गाय के दूध के साथ ।
        
नोट - ध्यान रहे मधुमेह , नाग भस्म , ओर शिलाजीत से शुगर लेवल से कम भी आ सकती है । लेवल ज्यादा बढ़ हुआ नही हो तो बसन्त कुसुमाकर रस ओर चन्द्र प्रभा वटी ही पर्याप्त है । 

नोट – किसी भी आयुर्वेद औषधि का सेवन करने से पहले आयुर्वेद चिकित्सक से परामर्श अवश्य ले | जिससे आपको हानि होने की सम्भावना नही रहेगी |

यदि आपको हमारा लेख पसंद आया हो तो हमे कमेन्ट करके अवश्य बताये | साथ ही किसी भी प्रकार के परामर्श के लिए आप अपना सवाल कमेन्ट बॉक्स में छोड़े हमारे विशेषज्ञों द्वारा जल्द ही आपको जवाब दिया जायेगा |

धन्यवाद !


 Health problem
Share This

Translate

Popular Posts

Recent Post

Hello!

Chat on WhatsApp